गुजरात के 80 वर्षीय एक बजुर्ग भक्त , जो लगभग 40 se 50 किलो के कपड़े के घोड़े को लेकर पदयात्रा करते हुए रामदेवरा पंहुचा।(gujarat ke 80 varsh ke ek bujurg jo lagbhag 40 se 50 kilo ke kapde ka ghode ko lekar padyatra karte hove ramdevra pahucha. - id24news

id24news

देश दुनिया की खबरों और सूचनाओं के लिए देखते रहिये id24news.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Tuesday, 24 September 2019

गुजरात के 80 वर्षीय एक बजुर्ग भक्त , जो लगभग 40 se 50 किलो के कपड़े के घोड़े को लेकर पदयात्रा करते हुए रामदेवरा पंहुचा।(gujarat ke 80 varsh ke ek bujurg jo lagbhag 40 se 50 kilo ke kapde ka ghode ko lekar padyatra karte hove ramdevra pahucha.

जैसलमेर/रामदेवरा.
                             गुजरात के 80 वर्षीय एक बजुर्ग भक्त , जो लगभग 40 se 50 किलो के कपड़े के घोड़े को लेकर पदयात्रा करते हुए रामदेवरा पंहुचा।(gujarat ke 80 varsh ke ek bujurg jo lagbhag 40 se 50 kilo ke kapde ka ghode ko lekar padyatra karte hove ramdevra pahucha.
                       
   यदि व्यक्ति मन में कुछ करने की ठान लेता है, तो कोई मुश्किल और बाधा उसके आड़े नहीं आती है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया गुजरात के 80 वर्षीय एक बजुर्ग भक्त , जो लगभग 40 से 50 किलो के कपड़े के घोड़े को लेकर पदयात्रा करते हुए रामदेवरा पहुंचा और बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन किए। गुजरात से अहमदाबाद से आए धर्मभाई ने बताया कि उनकी उम्र 80 वर्ष है।
गुजरात के 80 वर्षीय एक बजुर्ग भक्त , जो लगभग 40 से 50 किलो के कपड़े के घोड़े को लेकर पदयात्रा करते हुए रामदेवरा

बाबा रामदेव के प्रति उनकी अगाढ़ आस्था है। उन्होंने अपने हाथों से 50 किलो वजनी कपड़े का घोड़ा बनाया। उस घोड़े को उन्होंने अपने कंधे पर लेकर पदयात्रा शुरू की। 700 किमी का सफर 32 दिनों में पूरा कर बुजुर्ग आदमी ने रविवार को रामदेवरा पहुंचा। उन्होंने  मंदिर जी के दर्शन करके अपनी अर्जी लगाई।
Source
       Baba ramdev ji mandir runicha dham ramdev facebook page se liya gya.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here